0

FASTag क्या है ? यह कैसे काम करता है ?

fastag kya hai

FASTag क्या है ? यह कैसे काम करता है ? FASTag kya hai in hindi ? What is FASTag and how does it works ? Explained in hindi.

राष्ट्रीय राजमार्गो पर से गुजरने वाली सभी वाहनों पर FASTag लगाना अनिवार्य हो गया है. इस तकनीक का इस्तेमाल देशभर के नेशनल हाईवे के टोल प्लाजा पर शुरू हो चूका है.  FASTag के समबन्ध में किसी भी प्रकार का सवाल अगर भी भी आपके मन में है तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़े. चलिए FASTag क्या है  यह समझते- 

FASTag क्या है ? What is FASTag in Hindi ?

राष्ट्रीय राजमार्गो पर लगे टोल प्लाजाओं पर टोल पेमेंट के समय होने वाले परेशानियों को दूर करने के लिए National Highways  Authority of India (NHAI) द्वारा भारत में electronic toll collection system लागू किया गया.  इसमें Radio Frequency Identification(RFID) का इस्तेमाल किया जाता है. इसके द्वारा टोल का पेमेंट सीधे प्रीपेड या इससे लिंक्ड सेविंग अकाउंट द्वारा हो जाता है. 

FASTag कैसे काम करता है ? How does it works ?

RFID को वाहन के विंडस्क्रीन पर लगाया जाता है. जैसे ही आपकी गाडी टोल प्लाजा पर पहुँचती है, तो टोल प्लाजा पर लगे सेंसर आपके वाहन के विंडस्क्रीन पर लगे फास्टैग को ट्रैक कर लेता है. वाहन में लगा यह टैग आपके प्रीपेड अकाउंट के एक्टिव होते ही अपना प्रोसेस शुरू कर देता है. इसके बाद आपके FASTag account से उस टोल प्लाजा पर लगने वाला पेमेंट कट जाता है. इस तरह आप टोल प्लाजा पर बिना रुके पेमेंट कर पाते है. यह टैग रिचार्जेबल होता है, जैसे ही आपके FASTag अकाउंट की राशि खत्म हो जाएगी, तो इसे आपको  फिर से रिचार्ज करना पड़ेगा.

FASTag कैसे बनाया जाता है ? यह कहाँ से मिलेगा ? FASTag रजिस्ट्रेशन –

इसे किसी भी पॉइंट ऑफ़ सेल (POS) लोकेशन पर जाकर बैंक से ऑफलाइन ख़रीदा जा सकता है. चूकि लम्बी लाइन में लगने तथा कीमती समय बचाने के लिए आप इसे ऑनलाइन आवेदन कर सकते है. इसके अप्लाई करने की प्रक्रिया अलग अलग बैंको में भिन्न-भिन्न है, परन्तु कुछ कॉमन बातें है जो इस प्रकार से है.

बनाने की प्रक्रिया :-

  • FASTag प्रीपेड अकाउंट खोलने के लिए बैंक की ऑनलाइन FASTag एप्लीकेशन वेबसाइट पर जाए. FASTag अकाउंट खोलने के लिए उस बैंक में आपका खाता होने जरूरी नहीं है. लेकिन जिस बैंक में आपका खाता हो उसी से अकाउंट खोलना अच्छा होता है.
  • अपना विवरण जैसे- नाम, पता, जन्म की तारीख, मोबाइल नंबर, ईमेल इत्यादि.
  • KYC (Know Your Customer) के लिए ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, पासपोर्ट, वोटर आईडी या आधार कार्ड दर्ज करे. 
  • अब वाहन का रजिस्ट्रेशन नंबर (RC number) दर्ज करे. 
  • सभी जरूरी डाक्यूमेंट्स जैसे – KYC डाक्यूमेंट्स,  वाहन जिनके नाम से है उनका 01 पासपोर्ट साइज फोटो, तथा रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट की स्कैन कॉपी वेबसाइट पर अपलोड करें.
  • अब एप्लीकेशन जमा करने के बाद आपका फास्टैग  अकाउंट बन जायेगा.  

FASTag अकाउंट कैसे रिचार्ज करें ?

आप अपने फास्टैग अकाउंट को ऑनलाइन या फास्टैग एप्प के द्वारा एक्सेस कर सकते है. इसे आप क्रेडिट कार्ड/डेबिट कार्ड/ NEFT/RTGS/नेटबैंकिंग का उपयोग करते हुए अपने फास्टैग अकाउंट को रिचार्ज कर सकते है. रिचार्ज करने की न्यूनतम सीमा 100 रुपया तथा अधिकतम सीमा 100000 रुपया ही है. आपके सभी फास्टैग लेनदेन के लिए SMS और Email द्वारा अपडेट मिला करेगा.

FASTag के फायदे:-

अगर इसके फायदे की बात की जाये तो सबसे बड़ी बात यह कि आपके समय की बहुत अधिक बचत होगी, आप बिना टोल पर रुके निकलते रहेंगे. आपके तेल की भी बचत होगी. अधिकतर टोल प्लाजा पर टोल पेमेंट देते समय खुदरा पैसे की समस्या बानी रहती थी, जिससे की अब छुटकारा मिला है.

FASTag का भारत में सफर :-

सर्वप्रथम ये सिस्टम वर्ष 2014 में अहमदाबाद से मुंबई के बीच पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर शुरू की गई थी. बाद में यह सिस्टम 04 नवंबर 2014 को दिल्ली-मुंबई के बीच भी लागू की गई. उसके बाद यह जुलाई 2015 को चेन्नई-बंगलुरु के टोल प्लाजा पर टोल पेमेंट लेने की शुरुआत की गई. बाद में 2016 तक यह देश के 247 नेशनल हाईवे के टोल प्लाजा पर इसकी शुरुआत की गई. अक्टूबर 2019 से सरकार द्वारा यह घोषणा कर दी गई कि सभी वाहनों में फास्टैग जरूरी होगी अन्यथा दोगुना टोल पेमेंट चार्ज किया जायेगा. फास्टैग की सफलता को देखते हुए, हैदराबाद एयरपोर्ट ने फास्टैग कार पार्किंग की शुरुआत कर दी. 15 फरबरी 2021 से पूरे देश में फास्टैग को अनिवार्य कर दिया गया है.

FASTag से सम्बंधित कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न तथा उनके उत्तर :-

प्रश्न 1. FASTag का रजिस्ट्रेशन कहां किया जाता है ?

उत्तर-  FASTag का रजिस्ट्रेशन सम्बंधित बैंक में जाकर किया जा सकता है.

प्रश्न 2.  इसकी कीमत कितनी है ?

उत्तर-  इसकी कोई कीमत नहीं है. ये एक प्रकार का वॉलेट है जिसमे आप न्यूनतम एक सौ ले लेकर अधिकतम एक लाख तक का रिचार्ज कर सकते है. 

प्रश्न 3.  यह कहा मिलेगा ?

उत्तर – इससे सम्बंधित बैंक में जाकर रजिस्ट्रेशन करके प्राप्त किया जा  सकता है. 

प्रश्न 4. इसे किस-किस बैंको में अप्लाई किया जा सकता है ?

उत्तर –  इसे मुख्यतः केनरा बैंक, एक्सिस बैंक, HDFC बैंक, भारतीय स्टेट बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, इत्यादि में अप्लाई किया जा सकता है. आप इसे paytm के द्वारा भी ले सकते है. 

प्रश्न 5.  क्या नए ख़रीदे जाने वाले गाडी के लिए भी फास्टैग अलग से अप्लाई करना होगा ?

उत्तर – नहीं, नए ख़रीदे जाने वाले गाडी के रजिस्ट्रेशन के साथ ही फास्टैग उपलब्ध करवा दिए जाएंगे. 

प्रश्न 6. क्या होगा अगर हम अपने गाडी में फास्टग नहीं लगाएंगे या फास्टैग काम नहीं करे तो ?

उत्तर –  इस परिस्थिति में आपसे  दोगुना टोल लिया जायेगा.

यह भी पढ़ सकते है :-

यह आर्टिकल कैसा लगा, कमेंट करके जरूर बताये, अगर कुछ सुझाव हो तो उसे भी कमेंट करके या कांटेक्ट पेज के माध्यम से सूचित करे. इस वेबसाइट पर आने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *