Internet क्या है ? Internet explained

Internet

     क्या आप जानते है कि Internet क्या है , तो इसका एक साधारण सा जबाब हो सकता है।  इंटरनेट एक कंप्यूटर का नेटवर्क है जो एक सर्वर के द्वारा एक दूसरे के से जुड़े होते है।  हम जैसे ही सर्च इंजन के द्वारा किसी चीज को ढूंढते है तो वह हमें पहले सर्वर के पास ले जाता है और  स्टोर आइटम से ढूंढ कर वेबपेज पर उपलब्ध कराता है।

      Internet कंप्यूटर नेटवर्क का एक ग्लोबल सिस्टम है जो  Internet Protocol Suite (TCP/IP) का उपयोग करके डिवाइस को पूरी दुनिया के साथ जोड़ता है। यह नेटवर्क का नेटवर्क है जो प्राइवेट, पब्लिक, अकादमिक और सरकारी नेटवर्क से बना होता है।  जो लोकल नेटवर्क को ग्लोबल नेटवर्क तक पहुँचाता है। 

     यह इलेक्ट्रॉनिक्स, नेटवर्क, ऑप्टिकल नेटवर्किंग, टेक्नोलॉजी के द्वारा जुड़ा रहता है।  यह बहुत बड़े पैमाने पर सूचना को लोगों तक पहुँचाता है।  इंटरनेट को हम शार्ट में नेट भी कहते है।

Internet

 

Also read :- Internet कितने प्रकार के होते  है ?

Internet का इतिहास :-

       इंटरनेट टेक्नोलॉजी के लिए सबसे पहले “Packet Switching ” का उपयोग 1960 में Paul Baram और Donald Devis के द्वारा किया गया था। Packet Switched नेटवर्क का मतलब जैसे NPL नेटवर्क ( लोकल एरिया नेटवर्क ), ARPANET (Advance research projects agency network) जैसे TCP /IP , Telenet का उपयोग किया गया था।

       ARPANET के द्वारा ही सबसे पहले TCP/IP का इस्तेमाल करके इंटरनेटवर्किंग के द्वारा अनेक नेटवर्क को जोड़कर Network का Networks  तैयार किया गया। 

      ARPANET   तक पहुंचने के लिए 1981 में National Science Foundation (NSE) के द्वारा Computer Science Network (CSNET) को फण्ड दिया गया।  USA में ARPANET पर रिसर्च के लिए National Science Foundation (NSE) के द्वारा 1986 में सुपरकम्प्युटर उपलब्ध कराया गया।

         व्यवसायीकरण के तहत 1980 तथा 1990 के बीच में Internet Service Provider (ISP) बना और ARPANET की मान्यता रद्द कर दी गई।  Worldwide कनेक्टिविटी लोगों तक पहुंचाने के लिए ISP अनेक लेवल पर कार्य  करता है।

खास बिन्दु :-

        इंटरनेट का इस्तेमाल करने के लिए हम Dial-up, ब्रॉडबैंड, wifi , Satellite और सेलुलर सेलफोन ( जैसे 3G या 4G ) का उपयोग करते है।  इसके इस्तेमाल से हम आसानी से इंटरनेट तक पहुंच बना सकते है।

    International Telecommunication Union (ITU) के अनुसार 2018 तक 48% लोग रेगुलर इंटरनेट का इस्तेमाल करते है।  जो 2012 में मात्रा 34% था।  इंटरनेट का इस्तेमाल करने के लिए सबसे अधिक मोबाइल का उपयोग किया जाता है।  मोबाइल के  द्वारा इंटरनेट का उपयोग आसान हो गया है।

     इंटरनेट में Internet Protocol (IP) का सबसे अहम् रोल होता है।  IP का शुरुआत IPv4 से हुई जो अभी तक उपयोग में लाया जा रहा है।  IPv4 को 4.3 बिलियन होस्ट को एड्रेस करने के लिए डिज़ाइन किया गया था।  परन्तु  इंटरनेट यूजर की बढ़ती संख्या को देखते जुए IPv6 में अपग्रेड किया गया।  जो तेज एड्रेसिंग के साथ अधिक क्षमता के साथ रूटिंग करता है।  

      जिस तरह हर सिक्के के दो पहलु होते है और हर टेक्नोलॉजी का फायदा तथा नुकसान होता है।  ठीक उसी तरह इंटरनेट का भी कुछ फायदे है तो कुछ नुकसान भी है।  आइये इंटरनेट के फायदे तथा नुकसान  के बारे में जान लेते है।

Internet के फायदे (Pros) :-

असीमित सूचना तक पहुँच (Access to Unlimited  Information ) :-

     इंटरनेट के माध्यम से आप असीमित सूचनाओं तक पहुँच सकते है।  लाखों वेबसाइट है जिसके द्वारा आप किसी भी टॉपिक पर जानकारी प्राप्त कर सकते है और चीजों को समझ सकते है।

मनोरंजन (Entertainment):-

        इंटरनेट और  मनोरंजन का बहुत ही मजेदार कनेक्शन है।  इंटरनेट पर मनोरंजन का हर साधन मौजूद है।  बस आप किसी भी सर्च इंजन जैसे Google, Bing, Yahoo, Ask.com, GuckDuckGo पर जाकर आपको टाइप करना है जो आप देखना या सुनना पसंद करते है।  इंटरनेट पर आप Game, Movie, Music की असीमित मज़ा ले सकते है।

संवाद (Communication) :-

Internet

     संवाद के लिए इंटरनेट का सबसे अधिक उपयोग किया जाता है।  ईमेल , सोशल मीडिया, वीडियो कॉल, वॉइस कॉल, एप्लीकेशन इत्यादि के द्वारा हम आसानी से अपनी बात लोगों तक पंहुचा रहे है।  इंटरनेट के द्वारा आप अपने दोस्तों लो ढूढ़कर उनके साथ जुड़े रह सकते है।  इंटरनेट के द्वारा आप अपने लिए लाइफ पार्टनर भी ढूंढ सकते है।

शिक्षा (Education):-

      आज आप के लिए शिक्षा प्राप्त करने के लिए इंटरनेट से अच्छा टूल कुछ भी नहीं हो सकता है।  आज शिक्षा का हर क्षेत्र इंटरनेट से जुड़ चूका है।  हर यूनिवर्सिटी, कॉलेज इंटरनेट से जुड़ चुके है और हर चीज ऑनलाइन उपलब्ध कर रहे है।  एडमिशन, सिलेबस, किताब, ऑनलाइन परीक्षा सब कुछ ऑनलाइन स्टूडेंट को उपलब्ध हो जाता है।  आप किसी भी टॉपिक को इंटरनेट के माध्यम से ढूंढ सकते है और अपना concept clear कर सकते है। बस आपके पास सिखने की चाहत होना चाहिए।

नौकरी और व्यवसाय (Job and Bussiness):-

Internet kya hota hai

          इंटरनेट के जरिये नौकरी ढूंढना आज ज्यादा आसान हो गया है।  सभी तरह की vacancy आज ऑनलाइन उपलब्ध करा दिया जाता है।  बस आप गूगल कीजिये और नौकरी आपके सामने, बस नौकरी के अनुसार डिग्री होना आवश्यक है।  इंटरनेट के द्वारा आप अपना Bussiness बड़े पैमाने पर ले जा सकते है।

Internet के नुकसान(Cons):-

गलत खबर (Fake Content ) :-

     इंटरनेट के लिए सबसे बड़ी समस्या Fake  Content की है।  यहाँ गलत न्यूज़ की भरमार  है। सोशल मीडिया के माध्यम से किसी भी फेक न्यूज़ को आसानी से फैलाया जा रहा है।

सुचना की  उपलब्धता (Leakage of Information) :-

      आप इंटरनेट के माध्यम किसी भी व्यक्ति की सुचना आसानी से प्राप्त कर सकते है।  इंटरनेट पर प्राइवेसी नाम की कोई चीज नहीं होती है।  जिसका उपयोग असामाजिक तत्वों के द्वारा किया जाता है। ऑनलाइन खरीदारी के उपयोग होने वाले ATM कार्ड के साथ भी छेड़-छाड़ हो सकती है।

निर्भरता ( Dependency ) :-

      आज आप सभी तरह की फोटो, डाक्यूमेंट्स इंटरनेट के द्वारा किसी एप्लीकेशन या वेबसाइट पर रखने लगे है।  और हम उस वेबसाइट या एप्लीकेशन के सिक्योरिटी के भरोसे रह जाते है।  जिसका खामियाजा समय-समय पर भुगतना पड़ता है।  आपका डाटा या तो चोरी कर लिया जाता है या लीकेज कर दिया जाता है।

अश्लीलता (Vulgarity):-

        इंटरनेट परअश्लील सामग्री की कोई कमी नहीं है।  यह यह आसानी से उपलब्ध किया जा सकता है।  आज बच्चे भी इंटरनेट का उपयोग धरल्ले से करने लगे है।  जिसका परिणाम हमें भुगतना पड़ता है।

कुछ रोचक तथ्य :-

  • इंटरनेट पर 80 % फोटो नग्न औरत की है।
  • 95 मिलियन फोटोज इंस्टाग्राम पर रोज अपलोड किये जाते है।
  • अक्टूबर 2018  तक लगभग 1.9 बिलियन वेबसाइट इंटरनेट पर उपलब्ध है।
  • Average एक व्यक्ति अपने जीवन का 12 % समय इंटरनेट पर गुजारता है।
  • इंटरनेट पर 30 % वेबसाइट पोर्नोग्राफी से भरा हुआ है।
  • इंटरनेट पर प्रथम वेबसाइट 06 अगस्त 1991 को लाइव हुई थी।
  • चीन अपने इंटरनेट के आदि  (Internet Addicted ) व्यक्ति के लिए treatment उपलब्ध करवा रहा है।

निष्कर्ष :-

        चाहे इंटरनेट हो या कुछ और, हर चीज का साइड इफ़ेक्ट होता है।  ठीक उसी प्रकार इंटरनेट का भी साइड इफ़ेक्ट है।  इंटरनेट को उसी प्रकार उपयोग करे की इसकी आदत न लग जाये।

     आज के लिए बस इतना ही।  ये आर्टिकल कैसा लगा कमेंट करके जरूस बताएं।  अगले टॉपिक में मैं आपको बताऊंगा की इंटरनेट कैसे काम करता है?  (How internet works ?)

                                                                         धन्यवाद

7 thoughts on “Internet क्या है ? Internet explained”

  1. आपने बढ़िया तरीके से समझाया है आपके इस ब्लॉग वेबसाइट पर जानकारियों का भंडार है में हर दिन आपके ब्लॉग पर विजिट करता हूं मुझे आपकी ब्लॉग पोस्ट काफी पसंद आती है.
    Internet Kya Hai

  2. My spouse and I stumbled over here coming
    from a different website and thought I might as well check things out.
    I like what I see so i am just following you.
    Look forward to exploring your web page for a second time.

Leave a Comment

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *